Ye Jadu Hai Jinn Ka 24th December 2019 Written Episode Update : Kabir Helps Aman.


Ye Jadu Hai Jinn Ka 24th December 2019 Written Episode Update : Kabir Helps Aman. Letest Updates on Hindiflames.com 

Ye Jadu Hai Jinn Ka एपिसोड की शुरुआत अमन से पूछती है कि सलमा ने पूछा कि क्या रोशनी उसे याद करती है या उसके बारे में सोचती है। सलमा कहती है कि नहीं, आपने सुबह से चौथी बार यह पूछा है, मैं आपसे इस बारे में बात नहीं कर सकती। वह उससे अप्रत्यक्ष रूप से रोशनी को उसके बारे में बताने के लिए कहता है। वह कॉल समाप्त करता है। रोशनी कहती है कि आप जानते हैं कि मैंने उस अजीब आदमी के बारे में बताया, मैंने अपनी क्लिप के साथ भी कुछ किया है, क्या मैं भी जादुई हूं, मुझे लगता है कि मैं कुछ भूल गई हूं। सलमा पूछती है क्या, क्या आपको यह याद है। रोशनी कहती है कि मुझे नहीं पता, मेरा मूड पंचर है। तबीजी को अमन आईना देता है। वह उसे चिंता न करने के लिए कहती है। वह कहती है कि यह दर्पण भी एक रहस्य है, हम इसके नियमों को नहीं जानते हैं। कबीर आकर देखता है। वह अमन की देखभाल करने के लिए कहती है। अमन जाता है।

 कबीर को लगता है कि इल्मजीन तबीजी को बताएगा कि मैं कौन हूं, मुझे अभी इस खेल को रोकना है। वह उस पर हमला करता है। वह बेहोश हो गई। वह किताब पढ़ने के लिए जाता है। वह कागज को अपने पास रखते हुए ले जाता है। कागजात निकल जाते हैं। वह दर्पण लेता है और उसमें तबीजी को फंसाता है। वह घर आता है। अमन उसे बाहर बुलाता है और कहता है कि मैं रोशनी को घर लाने के लिए सोच रहा था, उसकी याददाश्त वापस आ सकती है। अमन कहता है हां। वह किताबों के बीच में दर्पण छिपा देता है। अमन उसे आने के लिए कहता है। कबीर आईना देखता है और चला जाता है।


 सलमा कहती हैं कि रोशनी को कुछ याद नहीं है। अमन कहता है मुझे उसे घर ले जाना है, बस मेरी बात मान लो, तुम्हें पता चल जाएगा। अमन और कबीर रोशनी के घर आते हैं। Befikre ... .plays ...। अमन कहते हैं कि आपको संवाद याद हैं। कबीर कहते हैं, मुझे घबराहट होती है। अमन कहते हैं कि इसकी एक्टिंग करना आसान है, हमारा किलर लुक आधा काम करेगा और हमारी प्रतिभा बाकी का प्रबंधन करेगी। वह जादू करता है। घर हिलने और टूटने लगता है। रोशनी और सलमा चौंक जाते हैं। अमन का कहना है कि अब देखिए दोनों दौड़ते हुए बाहर आएंगे, आप जानते हैं कि क्या कहना है, क्यों नहीं वे बाहर आ रहे हैं। कबीर कहते हैं, मैं जाकर उन्हें प्राप्त करूंगा। वह घर में घुसता है। सलमा पूछती है कि तुम कौन हो? वह कहता है मैं कबीर हूं, मेरे साथ आओ। वह रोशनी को खंभे से बचाता है। रोशनी उसे देखती है। वह उन्हें बाहर निकालता है। सलमा पूछती है कि यह आपकी योजना थी। अमन ने उसे इशारा किया। सलमा कहती है मेरा घर… .. घर पूरी तरह से बर्बाद हो गया।

 रोशनी पूछती है कि इतना बुरा भूकंप कैसे आया। कबीर कहते हैं कि पूरा शहर बर्बाद हो गया है। रोशनी सभी घरों को ठीक-ठाक देखती है। वह कहती है कि यह भूकंप क्या था। अमन का कहना है कि यह एक छोटा भूकंप था। सलमा पूछती है कि अब हम कहां जाएंगे। रोशनी कहती है कि आपने हमारी जिंदगी फिर से बचा ली। अमन कहता है इसे भूल जाओ। वह कहती है, मैं उसके साथ बात कर रहा हूँ, रेशमी बाल लड़का ... कबीर कहता है .. अमन मजाक करता है। वह पूछता है कि अब आप कहां रहेंगे। वह कहती है कि चिंता मत करो, हम प्रबंधन करेंगे अमन कबीर से कहता है कि उन्हें आउटहाउस में रहने के लिए कहें। कबीर कहते हैं आउटहाउस। रोशनी का कहना है कि हमारे पास यह नहीं है। अमन कहता है तुम वहीं रह सकती हो। कबीर कहते हैं हां। रोशनी और सलमा का कहना है कि हम बोझ नहीं बन गए। अमन कबीर से कहता है कि वह रौशनी को तम्बू में आउटहाउस देने के लिए कहें। कबीर कहते हैं कि किराया ... अमन का कहना है कि मेरे प्यारे भाई का मतलब है कि तुम वहाँ टेंट में रह सकते हो।


अमन कहता है हम सब जानते हैं, कबीर। कबीर पूछते हैं क्या। अमन का कहना है कि आप पर जीवन बहुत कठिन है, बचपन एक भाई के बिना अधूरा है, आपने सभी परिवार को खो दिया है, आप मुझसे नफरत नहीं करते, हम जो खो गए हैं उसे आप वापस नहीं कर सकते, हम आपको बहुत प्यार देने का वादा करते हैं। साइमा का कहना है कि हम आपको अच्छी तरह से नहीं जानते हैं, हम एक साथ एक पार्टी करेंगे। दादी का कहना है कि आपको सभी का प्यार मिलेगा। कबीर मुस्कुराए। फुपी का कहना है कि हमारे पास पार्टी के लिए एक कारण होना चाहिए। अमन कहते हैं कि अगर हमारे पास रसम नहीं है, तो हम इसे बनाएंगे। साइमा का कहना है कि हम उपहार समारोह रखेंगे। अमन कहता है मुझे एक नई बहन और भाई मिला है। दादी का कहना है कि फराह अमन की बहन है, मैंने उसे घर बुलाया। परवीन ने कहा हां। छोटू कहता है हमें कबीर और फराह मिल गए। अमन कहता है और हमें रोशनी भी मिली। वे सभी अमन और मुस्कान को गले लगाते हैं। कबीर उन्हें छुरा घोंपते हुए याद करते हैं। अमन कबीर को आने के लिए कहता है। वह कबीर को गले लगाता है। परवीन दिखती है। परिवार मुस्कुराता है। कबीर बाज़ीगर को देखते हैं। वह सोचता है कि बाजीगर मुझे क्यों घूर रहा है, क्या उसने पहचाना कि मैंने सभी को मार डाला था।

Post a comment

0 Comments