Divya Drishti 4th January 2020 Written Episode Update : Dristi Says Lal Chakor is more Powerful

Divya Drishti 4th January 2020 Written Episode Update, Written Episode Update On Hindiflames.com 


Divya Drishti - दिव्या और द्रष्टि अतीत में आते हैं और लाल चकोर को देखते हैं।  वे वापस चले जाते हैं।  शेखर दिव्या के पास आता है और शुक्रिया कहता है।  वह कहती है कि मैंने वह सब माँ के लिए किया।  वह कहता है कि क्या आपको किताबें पसंद हैं?  दिव्या कहती है कि यहां से जाओ।  द्रष्टि ने दरवाजा बंद कर दिया।
 रक्षित का कहना है कि मुझे नहीं पता कि यह असली शेखर है या नहीं।  मेरा दिल कहता है कि वह है लेकिन मुझे नहीं पता कि क्या करना है।  कुछ भी आसान नहीं है।  महिमा कहती है कि मुझे तुम्हारे फेव चॉकलेट शेक लेने दो।

 द्रष्टि का कहना है कि उन्हें यह किताब कभी नहीं दिखानी चाहिए।  दिव्या कहती है कि मैं क्यों करूंगी?  द्रष्टि कहती है कि सभी ने हमें बेवकूफ बनाया।  हर कोई जिस पर हमने भरोसा किया।  हमें सावधान रहना होगा।  द्रष्टि कहती है कि उसने केवल सच कहा जब वह पकड़ा गया था।  उन्होंने पिसाचिनि को चिल्लाते हुए सुना।  सब लोग नीचे आते हैं।  उन्होंने पिसाचिनि को सभी घायल देखा।  वे एक पक्षी को सुनते हैं।  रक्षित कहता है कि यह कैसे हुआ?  द्रष्टि कहती है कि तुम पक्षी से डर गए हो?  पिसाची रो रहा है और डरा हुआ है।

 द्रष्टि ने पिसाचिनि को एक कमरे में लाया।  रोमी का कहना है कि किसी ने उस पर हमला किया।  द्रष्टि कहती है कि मैंने एक पक्षी को सुना।  रोमी कहता है मैंने भी किया।  दिव्या उसे पानी देती है।  रक्षित कहता है कि तुम पर हमला किसने किया?  वह रोती है और कहती है मुझे बचा लो प्लीज।  राशी और लड़की भी आते हैं।  महिमा कहती है कि तुम कहाँ थे?  वह कहती है कि हम शतरंज खेल रहे थे।

 रस्कित का कहना है कि रोमी ने जाँच की।  चिंकी राशी के साथ शतरंज खेल रही थी।  इसलिए हम उस पर शक नहीं कर सकते।  drishti का कहना है कि हाँ आप हर लड़की को निर्दोष पाते हैं;  वह कहती है कि मुझे यह लाल पंख मिला।  दिव्या कहती हैं ओला लाला चकोर का है?  पिसाचनी ने ओजस्वनी का गला घोंट दिया और कहा कि तुमने वह सब किया।  यह सब किसने प्लान किया?  जिसने मुझ पर हमला किया।
 द्रष्टि कहती है कि हमें यह पता लगाना होगा कि यह लाल चकोर कौन है।  दिव्या कहती हैं कि हमने अतीत में भी लाल चकोर को पाया था।  हमें इसके बारे में और अधिक जानकारी हासिल करनी होगी।  रक्षित कहता है कि मैं उस गुफा में जाऊंगा।  महिमा कहती है कि मैंने आपको वहां जाने नहीं दिया।  यह बहुत डरावना है।  मैंने आपको वहां जाने नहीं दिया।  महिमा कहती है कि मैंने अपने पिता को उस गुफा में खो दिया।  दलीलों में मत जाओ।  द्रष्टि ने उसे गले लगाया और कहा कि कृपया रोना मत।  अगर आप हमें चाहते हैं तो हम वहां नहीं जाएंगे।

 रशीत चिंकी से कहता है कि अपने हाथ पर दवा लगाओ।  क्या तुम डरे हुए हो?  वह कहती है कि मैंने यहां जो देखा वह जंगल से भी ज्यादा डरावना था।  मैं यहां से जाना चाहता हूं।  राशी का कहना है कि आप यहाँ सुरक्षित नहीं हैं।

Post a comment

0 Comments