Nazar 11th January 2020 Letest Written Updates : Mohana takes Abahy’s life


Nazar 11th January 2020 Letest Written Updates : Mohana takes Abahy’s life, Written Update on Hindiflames.com

मोहना अभय की कार को देखती है और कहती है कि आपका खेल खत्म हो गया है और मेरा काम शुरू हो गया है।
बरखा कहती हैं कि अभय कहां गया?  पिया का कहना है कि वह हमारे पीछे थी।  बरखा का कहना है कि वह अब तक आ चुकी होगी।  एवी का कहना है कि वह कार्यालय भी नहीं पहुंची है।  अभय ने अंश को फोन किया।  उन्होंने मोहना को यह कहते हुए सुना कि मुझे तुम्हारे खिलाफ कोई दुश्मनी नहीं है।  मुझे जवाब दो कि वे मेरे खिलाफ क्या योजना बना रहे हैं।  बरखा का कहना है कि मोहना ने उसे पकड़ लिया।  अभि कहता है कि अभय ने फोन किया है तो हम उन्हें बात करते सुन सकते हैं।  मोहना का कहना है कि वे मेरे खिलाफ सभी काली शक्तियों को बदल रहे हैं।  वह महिला कौन है जिसे वे छिपा रहे हैं?  आप उनके लिए अपनी जान जोखिम में क्यों डालना चाहते हैं?  मुझे बताओ या मैं तुम्हें मार दूंगा।  अभय कहता है मैं तुम्हें बताऊंगा।  अंश कहती है कि मोहना तुम्हें मार डालेगी।  अभय कहते हैं कि वे यहां आ रहे हैं।  अब आपको कोई नहीं बचाएगा।  मोहना का कहना है कि आने से पहले मैं चुभन में होगा।  अभय कहते हैं कि ऐसी कोई जगह नहीं है।  मोहना कहती है कि मैं तुम्हें वहां ले जाऊंगी।  बरखा का कहना है कि वह हमें उसकी योजना के बारे में बताने की कोशिश कर रही है।  मोहना कहती है कि अगर मोहना को गुस्सा आता है तो वह उसे मार सकती है।  मोहना का कहना है कि आज रात दो चाँद की रात है, और उन्हें पता नहीं है कि उनके साथ क्या होने वाला है।  आप मुझे सब कुछ बता सकते हैं लेकिन एक अधिकारी मर जाएगा।  राथोरस हमारी मौत के लिए जिम्मेदार होगा।  अभय कहते हैं कि प्रकृति का नियम आपको सजा देगा क्योंकि आप मेरी मौत के लिए जिम्मेदार हैं।  मोहना कहती है कि तब जाकर मेरे बारे में शिकायत करो।  पिया कहती है अभय, कृपया उसे सब कुछ बताएं और अपनी जान बचाएं।

मोहना, अबही की जान लेती है  वह फोन देखती है और कहती है कि आपकी वजह से दूसरे व्यक्ति की मौत हुई।  मैं इस खेल को हमेशा के लिए समाप्त कर दूंगा।  मेरी शक्तियाँ आज रात से कई गुना बढ़ जाएंगी।  उसके बाद कोई भी मेरा सामना करने में सक्षम नहीं हो सका।  अवि कहते हैं कि अभय अब और नहीं।  सब लोग रो रहे हैं।  पिया कहती हैं कि हमारी वजह से दूसरे व्यक्ति की मौत हुई।  हमें पीछे हटना चाहिए।  हम और अधिक जान जोखिम में नहीं डाल सकते।  अंश कहती है कि हमें यह सब भाग्य पर छोड़ देना चाहिए।  बरखा कहती है नहीं।  अगर हम अब पीछे हटते हैं, तो यह मोहाना के साथ अन्याय होगा।  वह अपनी जान बचा सकता था फिर भी उसने अपनी जान दे दी।  हम उसे रोकेंगे।  मुझे खेद है कि मैंने आपसे अपनी शक्तियों का उपयोग न करने के लिए कहा।  हमें मोहना को मारना है, ताकि कोई और निर्दोष न मरे।  निशांत कहते हैं, हाँ, हमने अभय के बलिदान को व्यर्थ नहीं जाने दिया।  अंश कहती है कि हमें उसका सामना करना है।  बरखा कहती है मैं तैयार हूं।  क्या पिया कहती है कि हमें पहले यह पता लगाना होगा कि मोहाना कहां है?  निशांत कहता है और यह चुभन कहाँ है।  अंश कहती है कि हम पाएंगे।

मोहना दलदल की ओर जा रहा है।  सांप उसे रोकते हैं।  मोहना कहती है कि मुझे कोई नहीं रोक सकता।  वे कहते हैं कि सांप हम कर सकते हैं।  मोहना ने उनका गला घोंटा और कहा कि जाओ और अपने नेताओं से कहो, मैं तुम सबको मार डालूंगा।
 निशांत का कहना है कि मैंने कभी भी चुभने वाले दलदल के बारे में नहीं सुना।  बरखा कहती हैं कि चुभन ऐसे पौधों में होती है जिनमें पानी सबसे कम होता है और जहां पानी होता है वहां दलदल होता है।  वहाँ एक चुभन दलदल कैसे हो सकता है?  शेखर कहते हैं कि शायद वहां कुछ समय के लिए पानी हो।  अंश का कहना है कि जब मैं सिंघा का सींग ले रहा था, मैंने एक जगह देखी, जहाँ एक नदी और एक महल था और एक रेगिस्तान से घिरा हुआ था।  निशांत का कहना है कि वहां कोई नहीं जाता है।  आपने महल देखा होगा जब आप वहां गए थे तो यह पन्ना था।  पिया का कहना है कि आज रात को भी दो चाँद लगेंगे।  इसलिए मोहना वहां जरूर गई होगी।  निशांत कहते हैं, लेकिन यह काली शक्तियों के लिए एक जगह है।  जो भी वहां जाता है वह कभी वापस नहीं आता है।  अंश कहती है कि हम उसे रोकने के लिए वहां जाएंगे।  बरखा कहती हैं कि हमें मोहना से पहले वहां पहुंचना होगा।

चुड़ैलों ने मोहना को रोक दिया।  मोहना कहती हैं कि क्या आप भी मरना चाहते हैं?
सवि और नमन रात के दो चांद पढ़ रहे हैं।  नमन कहते हैं कि यह 1000 साल में आता है।  यह काली शक्तियों को प्रभावित करता है।  जतन में लहरें नहीं हैं।  सावी कहता है कि चुड़ैलों के बारे में क्या?  वह कहता है कि अधिक कुछ नहीं है।  सावी का कहना है कि आप एक बेकार चुड़ैल हैं।  नमन कहते हैं मैं कम से कम कुछ पढ़ता हूं।  सावी कहती है कि हमें पटमयन से जाकर पूछना चाहिए।

मोहना कहती है कि आप सभी मुझे रोक नहीं सकते।  मुझे वही करना होगा जो करना होगा।  वह सभी चुड़ैलों को मारता है।  अनश, बरखा, निशांत और पिया अपने रास्ते पर हैं।  बरखा कहती हैं कि केवल एक चंद्रमा है।  इसे दो चंद्रमाओं की रात क्यों कहा जाता है?  निशांत कहते हैं कि हम बाद में चर्चा कर सकते हैं लेकिन पहले हमें इस दलदल को पार करना होगा।  यह गहरा दिखता है।  अंश कहता है कि हम इसे कैसे पार करेंगे।  पिया उस पर पौधों का एक रास्ता बनाता है।  बरखा कहती है मैं तैयार हूं।  मैंने मोहना को जीतने नहीं दिया।  वे हाथ पकड़कर उस पर चलते हैं।  वे महल के दरवाजे पर आते हैं।  अंश उसे खोलता है और अंदर चला जाता है।  बरखा कहती हैं कि यह डरावना लगता है।

सावी और नमन जंगल में हैं।  सावी का कहना है कि आपने दुफली को इस खतरनाक जगह पर क्यों लाया?  वह कहता है कि मैंने कहा कि दुफली मैं उसे हर जगह ले गया हूं।  वह कहती है कि तुम एक बेवकूफ हो?  नमन कहते हैं कि आज रात हर कोई गुफा में प्रवेश कर सकता है।  देखिए, मैंने कुछ उपयोगी पढ़ा।  उन्हें हरी रोशनी दिखती है।  सावी का कहना है कि पटमयन भाग गया।  नमन कहता है क्या?  उसने कैसे किया?  हम दोनों का सामना कैसे करेंगे?  सावी का कहना है कि किसी का फोन उत्तरदायी नहीं है।

Post a comment

0 Comments